• राजनीति

    लोकसभा चुनाव : छत्तीसगढ़ कांग्रेस का मास्टर स्ट्रोक, विधायकों और राज्यसभा सांसदों को लोकसभा चुनाव नहीं लड़ाएगी....!!

    रायपुर - कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रदेश अध्यक्षों और प्रतिपक्ष के नेताआें के साथ हुई बैठक में एक बड़ी बात कही कि, देश के किसी भी विधायक और राज्यसभा सांसद को कांग्रेस आगामी लोकसभा चुनाव नहीं लड़ाएगी। बड़े नेता चाहेंगे तो उन्हें टिकट दी जाएगी लेकिन उनके किसी रिश्तेदार को टिकट नहीं दी जाएगी।   लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने देशभर में मोदी सरकार की विफलताआें को लोगों तक पहुंचाने का काम शुरू कर दिया है। टिकट वितरण की प्रक्रिया भी जल्द शुरू की जाएगी। हाल ही में हुई बैठक में प्रत्याशी चयन के लिए जरूरी मापदंडों के बारे में राहुल गांधी ने एआईसीसी के पदाधिकारियों के साथ अन्य प्रदेशों के नेताओं को भी जानकारी दी। 
     

    रिश्तेदारों की बजाय युवाओं और महिलाओं को टिकट बंटेगी : इसके अलावा पीसीसी के नेताआें को निर्देश दिए हैं बड़े और पुराने नेता चाहें तो उन्हें चुनाव लड़ाया जा सकता लेकिन यदि वे अपने बेटे, बेटियों, बहन, पत्नी आैर भाई या किसी भी रिश्तेदार के लिए टिकट मांगेंगे तो उन्हें टिकट नहीं दिया जाएगा। इस बार पार्टी से जुड़े अधिक से अधिक युवा नेताओं और महिलाओं को टिकट दी जाएगी।

    मोदी सरकार के विरुद्ध मुखर होने के निर्देश
    कांग्रेस अध्यक्ष ने पीसीसी के नेताओं के कहा कि एआईसीसी के नेता राफेल समेत मोदी सरकार की विफलताओं  को लेकर जनता के बीच जा रहे हैं लेकिन राज्य की सरकारें या फिर पीसीसी मोदी सरकार की विफलताएं गिनाने में अभी तक असफल रही हैं। दिल्ली में हुई बैठक में राहुल गांधी ने सभी प्रदेश अध्यक्षों और   प्रतिपक्ष के नेताओं को आदेशित किया है कि राफेल जैसे मुद्दे को लेकर प्रदेश में भी माहौल खड़ा करें और प्रधानमंत्री मोदी के भ्रष्टाचार और उनकी विफलताआें को जनता के बीच ले जाएं।

    ऐसे तय होगा प्रत्याशियों के नाम
    लोकसभा चुनाव के प्रत्याशियों के चयन के लिए इस बार प्रदेशवार स्क्रीनिंग कमेटियां नहीं बनाई जाएगी। उम्मीद्वारों के लिए होने वाली लॉबिंग और गुटबाजी को ध्यान में रखकर ऐसा किया जा रहा है। बताया गया है कि एआईसीसी चुनाव की तारीख घोषित होने के 10 दिन के भीतर प्रत्याशियों के नाम घोषित कर देगी। विधानसभा चुनाव में सभी प्रदेशों के लिए स्क्रीनिंग कमेटी का गठन किया गया था लेकिन लोकसभा चुनाव में एेसा नहीं किया जा रहा है। इन नामों को अंतिम रूप केसी वेणुगाेपाल की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय कमेटी देगी। इस कमेटी में प्रदेश के प्रभारी, प्रभारी सचिव और प्रदेश अध्यक्ष भी रहेंगे। यही कमेटी प्रदेशों में संभावित कैंडिडेट के नाम फाइनल करेगी। प्रत्याशी की घोषणा केन्द्रीय चुनाव समिति द्वारा की जाएगी।

    राष्ट्रीय हिंदी मासिक पत्रिका-राष्ट्रबोध,
    मुख्य संपादक, पवन केसवानी